अभिनव कौशिक,एनटीन्यूज़ हरिद्वार: कोरोना टेस्टिंग के बाद अब दूसरे घोटाले का मामला भी सामने आया है। जहां खड़ाखडी शमशान घाट पुल जो पिछली बार अर्धकुंभ में भी तेज बहाव में आज टूट गया। इससे पहले भी इस पुल में निर्माण के दौरान दरारें आ गयीं थी।

सामाजिक कार्यकर्ता सुनील सेठी ने प्रेस को जारी बयान में कहा कि ये सीधे-सीधे जनता के पैसे की बर्बादी है। कुंभ मेले में इस पुल का कोई उपयोग भी नहीं हुआ। न ही कोई आवश्यकता थी उसके बावजूद किसी स्थायी कार्य की जगह अस्थाई रूप से जनता के पैसे को ठिकाने लगाने के लिए इस पुल का निर्माण किया।

कुंभ कार्यो में हुए ऐसे सभी अनैतिक कार्यो की सी बी आई जांच होनी चाहिए।