कोरोना महामारी ने जहां आम लोगों की जिंदगी के तौर तरीकों को बदल दिया है वहीं कोरोना संक्रमण के चलते शादियों का रूप भी बदल रहा है।

ऐसा ही वाकया अल्मोड़ा जिले के हवालबाग विकासखंड के लाट गांव में देखने को मिला। जहां गुरुवार को शादी के कुछ घंटों पहले दुल्हन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद इसकी सूचना प्रशासन को दी गई और शादी के लिए पीपीई किट मुहैया कराने जाने की मांग की गई। दूल्हा-दुल्हन समेत पंडित ने पीपीई किट पहन कर शादी पूरी करवाई।

जिसके बाद दुल्हन को उसके मायके में ही क्वारंटाइन किया गया। दूल्हे को बिना अपनी दुल्हन लिए वापस जाना पड़ा।
मामला कुछ ऐसा हैै कि शादी से दो दिन पहले लड़की की तबीयत खराब होने से उसकी कोरोना जांच कराई गई। बारात घर पहुंचने के कुछ घंटे पहले दुल्हन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। बारात राजस्थान के बीकानेर से अल्मोड़ा पहुंच गई थी। ऐसे में लड़की पक्ष ने प्रशासन को इसकी जानकारी दी। जिसके बाद एसडीएम की ओर से कोविड नियमों को ध्यान में रखते हुए शादी की इजाजत दी गई। लिहाजा गांव में पीपीई किट उपलब्ध कराई गई। इसके बाद मंडप सजाया गया और शादी की रस्में पूरी कराई गई। इसके बाद दुल्हन को क्वारंटाइन कर दिया गया। इस दौरान पीपीई किट पहनकर पूरी शादी हुई। दूल्हा-दुल्हन, उनके माता-पिता, भाई और पंडित ने पीपीई किट पहनकर मंडप में रस्में पूरी कराई गई। विधिवत मंत्रोच्चार के बीच दूल्हा-दुल्हन ने पीपीई किट पहनकर एक दूसरे के गले में माला पहनाकर सात फेरे लिए। बारात राजस्थान के बीकानेर से आई थी।

अब दुल्हन को उसके अपने घर में क्वारंटीन कर दिया गया है। और फिलहाल दूल्हा शादी कर वापस चला गया है। अब दुल्हन कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही अपने ससुराल जा पाएगी।