संजीव शर्मा, एन टी न्यूज़(नवल टाइम्स न्यूज़)ब्यूरोः (दिनांक 10/11/2020,  आज अखिल भारतीय नवांकुर अंजलि काव्य मंच द्वारा कवि आदित्य सिंह कश्यप के जन्मदिन के शुभ अवसर पर कवि सम्मेलन आयोजित  किया गया।

कार्यक्रम का कार्यभार कवि दुर्गेश दुर्लभ संभाल रहे थे जिन्होंने अपने एक मधुर गीत से कवि आदित्य सिंह कश्यप को बधाई और आशीर्वाद दिया। इन के आलावा अपने अपने लहज़े से बधाई देने वालों में कवि अजय सिंह उदय, कवि मध्यम सक्सेना, लक्ष्य शर्मा, कवित्री शिवांगी मिश्रा, कवि सुखवीर सिंह चौधरी आदि कवि थे।

नवांकुर अंजलि काव्य मंच द्वारा आदित्य सिंह कश्यप को उनके द्वारा रचित एक गीत भेंट दिया गया।

गीत
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो
लक्ष्य जो साधा हैं तूने
सपनों से बाँधा हैं तूने
सपनों को जो सिद्ध कर दें संग वों तेरी साधिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो।

स्वर्ग सा जीवन हो तेरा
खुशहाली हाँ मन हो तेरा
जिंदगी को स्वर्ग कर दें
संग वों तेरी सारिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो।

क़दमों से कदम मिलाये
अंजुरी से अंजुरी सटाये
सप्तपद की यात्रा में संग में तेरी राधिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो।

विश्व तुझको कलाम माने
विज्ञानी आलम माने
देश दुनिया को जगाने भगत सिंह  तुझमें गवाधिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो
तू रहे जिस द्वार पर वों द्वार तेरा द्वारिका हो।