संजीव शर्मा, नवल टाइम्सः बिपिन त्रिपाठी कुमाऊं प्रौद्योगिकी संस्थान, द्वाराहाट के कंप्यूटर साइंस एवम इंजीनियरिंग के छात्र विनम्र शर्मा ने अपने प्रोफेसर डॉ विशाल कुमार के कुशल नेतृत्व में एक बार फिर, किया अपने एवं अपने संस्थान का नाम रौशन। इस बार अंतर्राष्ट्रीय आई०ई०ई०ई०  लास वेगास सेक्शन यू०एस०ऐ० (USA)  द्वारा प्रायोजित पांच दिवसीय कार्यशाला और 22 जून 2020 से तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में शोध पत्र प्रस्तुत किया। जिसमें उन्होंने आधुनिक मशीन लर्निंग एवं डाटा माइनिंग पर आधारित रिकमेंडेशन एवं रंगीन फ्रेम-वर्क प्रस्तुत किया ।

इस शोध पत्र को तैयार करने में विनम्र शर्मा का सहयोग उन्ही के कालेज की अन्तिम वर्ष की छात्रा अंकाक्षा जोशी ने किया।

बिपिन त्रिपाठी कुमाऊं प्रौद्योगिकी संस्थान, द्वाराहाट के निदेशक प्रोफेसर वी०एम० मिश्रा, आई०ई०ई०ई० लास वेगास सेक्शन के अध्यक्ष मार्क डैमरोन, USA से एडेल एलमाघ्रबी और मार्क मिलर, कार्यकारी अध्यक्ष, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान उत्तराखंड के डॉ० पंकज कुमार पाल और ऐ०के०टी०यू० लखनऊ के प्रो० वाईस चांसलर के द्वारा उद्घाटन किया गया। संस्थान के निदेशक प्रोफेसर वी०एम० मिश्रा द्वारा बताया गया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को मानवीय इंटेलिजेंस के बराबरी करने में मशक्कत करनी पड़ती है, फिर भी इस क्षेत्र में शोधकार्य लगातार गतिमान है। साथ ही उन्होंने सायबर सुरक्षा की तरफ अग्रसारित होने के लिए प्रोत्साहित किया।

USA से एडेल एलमाघ्रबी द्वारा बताया गया कि कोरोना वायरस जैसी महामारी के कारण आज के दैनिक जीवन में डिजिटल तकनीक को अपनाने से  कोई भी इंसान और क्षेत्र अछूता नही है।
इन कार्यक्रमो में विभिन्न देशों के विश्व स्तरीय शोधकर्ताओं द्वारा व्याख्यान दिए जा रहे है, जिनमे यू०एस०ऐ० (USA) से डॉ० काशिफुद्दीन काज़ी, दक्षिण कोरिया से डॉ० मधुसूदन सिंह, दक्षिण अफ्रीका से डॉ० अर्नेस्ट मनकांडला, मिस्र से डॉ० अहमद एलनगर शामिल है। साथ ही इंडस्ट्री के लोगों के द्वारा भी व्याख्यान दिए जा रहे है, जिनमे आई०बी०एम० (IBM) से नीरज गुप्ता, ऐ०बी०बी० कॉरपोरेट रिसर्च (ABB Corporate Research) से डॉ०एस०डी० सुदर्शन आदि शामिल है।

इन लोगो द्वारा इंटरनेट ऑफ थिंग्स, वर्चुअलआईजेशन और क्लाउड कंप्यूटिंग, ब्लॉकचैन अल्गोरिथम फ़ॉर कनेक्टेड व्हीकल्स जैसे विषयों पर व्याख्यान दिए गए। संस्थान की ओर से आयोजनकर्ताओ में कंप्यूटर साइंस एवम इंजीनियरिंग विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर अजित सिंह, डॉ विशाल कुमार, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ० आर० पी० सिंह, इलेक्ट्रॉनिक्स एवम कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग विभाग से वरुण काकर, ललित गड़िया आदि उपस्थित रहे।
कार्यशाला और संगोष्ठी में अभी तक विश्व के विभिन्न देशों के प्रोफेसर और शोधकर्ताओं द्वारा कुल 17 रिसर्च पेपर पढ़े गए हैं। जिनमे विनम्र शर्मा द्वारा प्रस्तुत किये गये शोध पत्र को काफी सराहा गया। उनके द्वारा तैयार किये गये इस शोध पत्र की अंतर्राष्ट्रीय मंच पर बहुत सराहना हुयी।