डीपी उनियाल: आज 18 /2 /2024 को राजकीय महाविद्यालय देहरादून शहर के राष्ट्रीय सेवा योजना के सात दिवसीय विशेष शिविर का समापन धूमधाम से किया गया।

शिविर के समापन सत्र के मुख्य अतिथि टिकुलेश्वर महादेव मंदिर की महाराज रहे। समापन दिवस पर सर्वप्रथम स्वयंसेवियों द्वारा नित्य कर्म के पश्चात विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों जैसे भाषण ,गायन, नृत्य ,नाटक आदि प्रतियोगिताएं कराई गई।

स्वयं सेवियों के चार ग्रुप बनाए गए तीलू रौतेली, गौरा देवी ,लक्ष्मीबाई और मदर टेरेसा जिसमें पीलू रौतेली एवं लक्ष्मी बाई ग्रुप प्रथम तथा गौरा देवी ग्रुप द्वितीय स्थान प्राप्त किया।

कार्यक्रम समाप्ति पर उत्तम स्वयंसेवियों को पुरस्कार वितरित किए गए। जिनमें कैंप कमांडर प्रियांशु खत्री ,उत्तम स्वयंसेवी छात्रा कंचन राणा, उत्तम स्वयंसेवी छात्र विकास ,अनुशासित स्वयंसेवी वैभवी, मनोरंजक स्वयंसेवी कुश सचदेवा उत्तम भोजन व्यवस्था स्वयंसेवी प्रीति, मोहम्मदा ,आशिका, संजना, कीर्ति रहे।

समय की पाबंद स्वयंसेवी हर्षिता नौटियाल रहीं। सात दिवसीय विशेष शिविर के समापन सत्र में महाविद्यालय के प्रोफेसर कुलदीप रावत उपस्थित रहे उन्होंने स्वयं सेवियों को सात दिवसीय विशेष शिविर के समापन पर पुरस्कार वितरण किया।

सभी छात्र-छात्राओं ने विशेष शिविर के अपने-अपने अनुभव मुख्य अतिथि के समक्ष रखे ।

प्रोफेसर कुलदीप रावत ने अपने उद्बोधन में स्वयंसेवियों को अपने राष्ट्रीय सेवायोजन के शिविर में बिताए गए दिनों एवं अनुभवों को साझा किया।

उन्होंने कहा कि हमें अनुशासन में रहकर आगे बढ़ना है यदि हम कहीं पर असफल होते हैं तो उसे हमें अपनी हार नहीं माननी है बल्कि उससे सबक लेकर अपने लक्ष्य को प्राप्त करना है।

कार्यक्रम अधिकारी डॉ० मुक्ता डंगवाल द्वारा सभी अतिथियों का धन्यवाद किया गया। कार्यक्रम का संचालन स्वयं सेवी कंचन राणा एवं अजीत द्वारा किया गया।